LIVE Course for free

Rated by 1 million+ students
Get app now
JEE MAIN 2023
JEE MAIN 2023 TEST SERIES
NEET 2023 TEST SERIES
NEET 2023
CLASS 12 FOUNDATION COURSE
CLASS 10 FOUNDATION COURSE
CLASS 9 FOUNDATION COURSE
CLASS 8 FOUNDATION COURSE
0 votes
7 views
ago in Home Science by (38.2k points)

एक किशोर / किशोरीअपने कैरियर का चयन किस प्रकार करें? समझाइए

Please log in or register to answer this question.

1 Answer

0 votes
ago by (38.2k points)

किशोर / किशोरी द्वारा अपने कैरियर का चयन – एक किशोर तथा किशोरी को अपने कैरियर का चयन करते समय निम्नांकित प्रमुख बातों का ध्यान रखना चाहिए –

1. माता – पिता की सलाह (Advice of parents):

कैरियर के चुनाव में माता – पिता की महत्त्वपूर्ण भूमिका होती है। अधिकांशतः पुत्र अपने पिता का व्यवसाय ही अपनाते हैं। किशोरों को अपने व्यवसाय चयन के संदर्भ में माता – पिता से आवश्यक सलाह लेनी चाहिए। इससे माता-पिता किशोरों की रुचि के अनुसार उन्हें सहयोगात्मक वातावरण प्रदान करते हैं

2. व्यावसायिक प्रशिक्षण (Professional training):

किशोरों को व्यवसाय का चयन करते समय व्यावसायिक प्रशिक्षण को महत्त्व देना चाहिए। अपनी अभिरुचियों को देखते हुए किशोरों को ऐसे व्यवसाय का चयन करना चाहिए जिसमें व्यावसायिक प्रशिक्षण की सुविधा हो, क्योंकि प्रशिक्षण द्वारा व्यक्ति की कार्यक्षमता में उत्कृष्टता आ जाती है: जैसे – डॉक्टर, इंजीनियर, नर्स, अध्यापक आदि।

3. कार्यशाला प्रशिक्षण (Workshop training):

व्यवसाय चयन के संदर्भ में अनेक कार्यशालाएँ आयोजित की जाती हैं जिनसे किशोर व्यवसाय चयन से सम्बन्धित अनेक जानकारियाँ तथा अनुभव प्राप्त कर सकते हैं।

4. अभिरुचियाँ तथा वृत्तियाँ (Interests and trends):

किशोरों को अपनी अभिरुचियों तथा वृत्तियों को अपने व्यवसाय चयन में प्राथमिकता देनी चाहिए। किसी के द्वारा थोपे गए मशविरे की तुलना में अपनी स्वयं की रुचि के अनुसार चयन किए गए व्यवसाय से अधिक कुशलता प्राप्त की जा सकती है।

5. व्यक्तिगत विशेषताएँ (Personal traits):

भिन्न-भिन्न प्रकार के व्यवसायों के लिए भिन्न – भिन्न प्रकार की योग्यताओं, कौशलों तथा अभिवृत्तियों की आवश्यकता होती है। कुछ व्यवसायों में उच्च बौद्धिक क्षमता की आवश्यकता होती है, जबकि कुछ के लिए एकाग्रता तथा सृजनात्मकता की आवश्यकता होती है। अत: किशोर-किशोरियों को सर्वप्रथम भली प्रकार अपनी रुचि तथा योग्यताओं को जाँच-परखकर व्यावसायिक क्षेत्र का चयन करना चाहिए।

6. रोजगार के अवसर (Job opportunities):

किसी भी व्यवसाय का चयन करने से पूर्व किशोर – किशोरियों को भली प्रकार इस बात की जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए कि उनके पसंदीदा क्षेत्र में रोजगार के पर्याप्त अवसर उपलब्ध हैं। अथवा नहीं। आज की कड़ी प्रतिस्पर्धा के युग में जहाँ एक ओर सरकारी नौकरियाँ दिवास्वप्न मात्र हैं, वहीं दूसरी ओर सूचना प्रौद्योगिकी, जैव प्रौद्योगिकी, पर्यावरण विज्ञान, फोरेंसिक साइन्स इत्यादि में रोजगार के अच्छे अवसर उपलब्ध हैं।

7. प्रतिष्ठा (Prestige):

व्यवसाय चयन से पूर्व उस व्यवसाय की प्रतिष्ठा को भी ध्यान में रखना चाहिए। कभी-कभी किसी व्यवसाय की बाह्य चमक – दमक से आकर्षित होकर किशोर – किशोरी उसे अपना लेते हैं किन्तु बाद में यह चयन उनके लिए नुकसानदायक साबित होता है। यह आवश्यक नहीं है कि किसी व्यवसाय विशेष में प्रत्येक व्यक्ति को प्रतिष्ठा प्राप्त हो जाए।

8. विद्यालयी सहयोग (School co – operation):

विद्यालयों में व्यवसाय चयन हेतु व्यावसायिक शिक्षण (Professional education), कार्यशालाओं (Workshops) तथा कैरियर सलाह (Career counselling) का आयोजन किया जाता है। किशोरों को विद्यालय की इन सुविधाओं का सहयोग प्राप्त करना चाहिए।

9. आर्थिक लाभ (Economic benefit):

किशोर – किशोरियों को व्यवसाय का चयन करने से पूर्व उससे प्राप्त होने वाले आर्थिक प्रतिफलों को भी ध्यान में रखना चाहिए। कहीं ऐसा न हो कि पैसा खर्च करके जिस व्यवसाय का चयन किया जा रहा है, बाद में उससे अनुकूल आर्थिक प्रतिफल प्राप्त न हो सके।

10. अंतर्राष्ट्रीय वृत्तियाँ (Global trends):

आधुनिक युग में किशोर / किशोरियों को विभिन्न मीडिया माध्यमों के द्वारा देश – विदेश में उभरने तथा पनपने वाले व्यवसाय के नवीन क्षेत्रों के संदर्भ में जानकारी प्राप्त हो सकती है जो उनके व्यवसाय चयन में सहायता प्रदान करती है।.

Related questions

Welcome to Sarthaks eConnect: A unique platform where students can interact with teachers/experts/students to get solutions to their queries. Students (upto class 10+2) preparing for All Government Exams, CBSE Board Exam, ICSE Board Exam, State Board Exam, JEE (Mains+Advance) and NEET can ask questions from any subject and get quick answers by subject teachers/ experts/mentors/students.

Categories

...